पद्म भूषण मिलने पर सोनिया गांधी ने दी गुलाम नबी आजाद को बधाई, लेकिन नहीं रही मौजूद

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण पुरस्कार दिये जाने पर कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फोन कर बधाई दी है। सोमवार को गुलाम नबी आजाद को भी पद्म भूषण पुरस्कार मिला, इसके बाद सोमवार देर शाम सोनिया गांधी ने आजाद को फोन कर बधाई दी।

सोनिया गांधी और आजाद के बीच हुई टेलीफोन बात के बाद अब माना जा रहा है कि शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ खड़ा हुआ G-23 ग्रुप भी कुछ नरमी दिखा सकता है। दो दिन पहले ही होली पर गुलाम नबी आजाद ने सोनिया गांधी मुलाकात भी की थी. इसके बाद से ही G-23 के बगावती तेवर में कुछ नरमी देखी गई थी।

बता दे की, आमंत्रण के बाद भी सोनिया गांधी पद्म भूषण अवॉर्ड के कार्यक्रम में नजर नहीं आईं थीं। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को जब भारत रत्न दिया गया, तब तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी कार्यक्रम से नदारद रहे थे।

सोनिया गांधी की गैर-मौजूदगी पर कांग्रेस नेता बोलें-

पद्म अवॉर्ड सेरेमनी में सोनिया गांधी की गैर-मौजूदगी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि, सोनिया कोरोना के चलते सार्वजनिक कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले रही हैं. उन्होंने पांच राज्यों के चुनाव के दौरान रैलियां भी नहीं कीं. वे सिर्फ संसद जा रही हैं. स्वास्थ्य कारणों के चलते उन्होंने सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल होना बेहद कम कर दिया है।