अफगानिस्तान से भारत लौटे 78 यात्री

अफगानिस्तान में तालिबान की हुकूमत कायम होने के बाद से ही वहां के हालात बिगड़ते जा रहे है . काबुल एयरपोर्ट की अफरा – तफरी भरी तस्वीरें हमारे सामने है . अफगानिस्तान से लगातार लोगों को निकालने का सिलसिला जारी है . भारत सरकार भी अफगानिस्तान में फंसे तमाम भारतीयों को निकालने का प्रयास कर रही है . इसी के तहत मंगलवार को  एयर इंडिया का एक विमान  ताजिकिस्तान के दुशांबे से नई दिल्ली पहुंचा . इसमें कुल 78 यात्री मौजूद थे , जिसमें 25 भारतीय नागरिक और  बाकी अफगानी नागरिक शामिल थे. काबुल में तालिबान के कब्जे का बीच वहां के मौजूदा हालात चिंता भरे है .काबुल एयरपोर्ट पर मची अफरा-तफरी के बीच भारतीयों के साथ-साथ अफगानिस्तानी नागरिकों को वहां से निकालना आसान नहीं है। इन तमाम मुश्किलों के बीच भारत अब तक 800 से अधिक लोगों को वहां से सुरक्षित निकालने में कामयाब रहा है और अब 78 यात्रियों को भी काबुल से सुरक्षित निकाला गया है.

काबुल  से लाई गई गुरुग्रंथ साहिब की तीन प्रतियां

विमान से भारत लौटे 78 यात्रियों के साथ साथ गुरूग्रंथ साहिब की तीन प्रतियों को भी भारत लाया गया . बता दे कि गुरुग्रंथ साहिब की तीनों प्रतियां अब तक अफगानिस्तान के गुरुद्वारों में मौजूद थीं.  काबुल से आई गुरुग्रंथ साहिब की प्रतियां को केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह ने दिल्ली एयरपोर्ट पर रिसीव किया . तस्वीरों में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पूरी गुरूग्रंथ साहिब की तीन प्रतियों को सिर पर लिए हुए दिख रहे है . ऐसी जानकारी मिली है कि अभी इन प्रतियों को दिल्ली के गुरुद्वारों में रखा जाएगा. साथ ही केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया कि उन्होंने अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों और स्थानीय लोगों को निकालने का मिशन चलाया है . भारत लौटने पर फ्लाइट में सवार यात्रियों ने अफगानिस्तान से सुरक्षित वापसी के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया और विमान में ही ‘वहे गुरु का खालसा, वही गुरु की फतेह’ के नारे भी लगाए।