39 जातियों को आरक्षण देने की तैयारी में योगी सरकार

संसद के दोनों सदनों में ओबीसी बिल पास हो चुका है . बिल पास होने के साथ ही राज्यों में हलचल तेज हो गई है. इस बिल के पास होने के बाद से ही तमाम राज्यों ने अपनी तरफ से अन्य पिछड़ा वर्ग की सूची तैयार करना शुरू भी कर दिया है। संसद ने 127वें संविधान संशोधन को मंजूरी दे दी है . यह संशोधन राज्यों को अपने स्तर पर ओबीसी आरक्षण के लिए जातियों की सूची तैयार करने का अधिकार देता है  . सदन में ओबीसी बिल पास होने के साथ ही राज्यों ने नई सूची तैयार करने का काम भी शुरू कर दिया है . सूत्रों की मानें तो , योगी सरकार ने 39 नई जातियों को ओबीसी की सूची में शामिल करने का प्रस्ताव जारी किया है। फिलहाल इस वक्त  राज्य में 79 जातियां ओबीसी आरक्षण के दायरे में आती हैं।

24 जातियों के लिए सर्वे का काम पूरा

राज्य पिछड़ वर्ग आयोग के चेयरमैन जसवंत सैनी का कहना है कि आयोग का काम राज्य सरकार से सिफारिश करने का है . कुछ सिफारिशें सरकार को पहले ही भेजी जा चुकी हैं , कुछ और भी सिफारिशें राज्य सरकार को भेजी जानी है . फिलहाल 24 जातियों का सर्वे का काम पूरा किया जा चुका है और 15 जातियों का सर्वे किया जाना बाकी है . कई जातियों ओबीसी सूची में एंट्री  की मांग कर रही है . आयोग इन जातियों की मांग पर विचार कर रहा है.

यूपी के अलावा अन्य राज्य भी तैयार कर रहे सूची

ओबीसी बिल पास होने के बाद योगी सरकार ही नहीं , बल्कि अन्य राज्य भी ओबीसी आरक्षण के लिए जातियों की सूची तैयार करने में जुट गये है . दक्षिण भारत के बीजेपी शासित राज्य में भी सूची तैयार करने का काम शुरू हो चुका है। कर्नाटक और मध्य सरकार भी राज्य में 27 फीसदी आरक्षण देने पर काम कर रही है। मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने  15 अगस्त  के मौके पर अपने भाषण में ऐलान किया था कि नए ओबीसी आयोग का गठन किया जाएगा . इसके तहत ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने का काम होगा.

आने वाले चुनाव में फायदेमंद साबित हो सकता है योगी सरकार का फैसला

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले है . इस चुनाव के मद्देनजर योगी सरकार का 39 जातियों को ओबीसी में शामिल करने का फैसला योगी सरकार के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. सरकार का इन तमाम जातियों को आरक्षण देने का फैसला सामाजिक न्याय को बेशक दर्शाता है , लेकिन ये भी सच है कि यूपी सरकार आने वाले चुनाव की रणनीति को और मजबूत करने की कोशिश कर रही है .