योगी सरकार ने विधानसभा में पेश किया अनुपूरक बजट

योगी सरकार ने विधानसभा में पेश किया अनुपूरक बजट

उत्तर प्रदेश विधानसभा में योगी सरकार ने  बुधवार को वित्तीय वर्ष 2021-22 का पहला अनुपूरक बजट पेश किया। इस बजट में सरकार की घोषणाओं और अगले छह माह में पूरी हो सकने वाली परियोजनाओं का खाका तैयार किया गया है .

7301.52 करोड़ रुपये के अनुपूरक बजट

7301.52 करोड़ रुपये के अनुपूरक बजट में आंगनबाड़ी और आशावर्कर को मानदेय में वृद्धि का तोहफा दिया गया है . इसके साथ ही प्रदेश के युवाओं को डिजिटली सक्षम बनाने के तहत कोष की स्थापना करने का प्रस्ताव जारी हुआ है और इसके खातिर 3000 करोड़ रुपये का आवंटित किए गए है और तो और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 100 करोड़ रुपये की अतिरिक्त व्यवस्था , बलिया लिंक एक्सप्रेस वे के लिए 50 करोड़ रुपये का आवंटन भी इस अनुपूरक बजट में किया गया है .

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया अनुपूरक बजट

उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में अनुपूरक बजट पेश किया . बजट पेश करते हुए कहा कि सबसे महत्वपूर्ण  योजनाओं को पूरा करने के लिए यह बजट लाया गया है। इसमें युवाओं को रोजगार देने ,  गन्ना किसानों का भुगतान और आंगनबाड़ी और आशावर्कर को मानदेय में वृद्धि का तोहफा देने जैसे  प्रावधानों को शामिल किया गया है . इसके साथ ही राजधानी में अंबेडकर स्मारक और सांस्कृतिक केंद्र का निर्माण, आंगनबाड़ी, आशावर्कर के मानदेय में वृद्धि, बिजली व्यवस्था में सुधार, गोवंश का रखरखाव और आयोध्या में पार्किंग की व्यवस्था के लिए बजट में प्रावधान किया गया है।

विधानसभा सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष का हंगामा

उत्तर प्रदेश विधान मंडल का मानसून सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही सुबह 11 बजे शुरू हुई .कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने सदन में हंगामा और नारेबाजी करना शुरू कर दिया . विपक्ष  लगातार ये मांग करता रहा कि महंगाई के मुद्दे पर चर्चा की जाए . नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने महंगाई का मुद्दा उठाते हुए कहा कि पेट्रोल डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं . इसे देखते हुए सदन में सबसे पहले महंगाई पर चर्चा होनी चाहिए। विपक्ष की ये मांग और हंगामा इस कदर बढ़ गया कि सदन की कार्यवाही 40 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी .

अनुपूरक बजट की खास बातें –

  • आंगनबाड़ी और आशावर्कर को मानदेय में वृद्धि
  • युवाओं को डिजिटली सक्षम बनाने के तहत कोष की स्थापना के लिए 3000 करोड़ रुपये का आवंटन
  • बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 100 करोड़ रुपये की अतिरिक्त व्यवस्था
  • बलिया लिंक एक्सप्रेस वे के लिए 50 करोड़ रुपये का आवंटन
  • राजधानी में अंबेडकर स्मारक और सांस्कृतिक केंद्र का निर्माण
  • बिजली व्यवस्था में सुधार
  • आयोध्या में पार्किंग की व्यवस्था