पंजाब चुनाव 2022: चरणजीत सिंह चन्नी बने कांग्रेस के CM कैंडिडेट, राहुल गांधी ने वर्चुअल रैली में किया CM चहरे की घोषणा

चंडीगढ़: पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के मुख्यमंत्री चहरे के नाम की घोषणा नहीं की थी। रविवार को लुधियाना में राहुल गांधी ने एक वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस CM चहरे के नाम की घोषणा की। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ही आगामी पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के CM उम्मीदवार होंगे।

उन्होंने कहा, “पंजाब का सीएम चेहरा चरणजीत सिंह चन्नी हैं. हमने पंजाब से पूछा और आपने हमें फैसला दिया. इसका निर्णय लेना बहुत कठिन था. पंजाब को एक ऐसे नेता की जरूरत है जो गरीबों को समझ सके, उनकी चिंता को महसूस कर सके.” राहुल ने घोषणा के बाद कुछ शब्द कहने के लिए चन्नी को आमंत्रित करते हुए कहा, “पूरी कांग्रेस अब पंजाब को बदलने की दिशा में काम करेगी.”

चन्नी ने पार्टी का किया शुक्रिया-
इसके बाद चन्नी ने खुद पर भरोसा जताने के लिए कांग्रेस का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने कहा, ‘यह एक बड़ी लड़ाई है, मैं पंजाब का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे कांग्रेस के लिए आशावान मुख्यमंत्री चुना. मुझ पर भरोसा करने के लिए मैं कांग्रेस आलाकमान और पंजाब के लोगों का तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं. जैसा कि आपने हमें पिछले 111 दिनों में पंजाब को आगे ले जाने के लिए इतनी मेहनत करते देखा है, मैं आपको पंजाब और पंजाबियों को नए जोश और समर्पण के साथ प्रगति के पथ पर ले जाने का आश्वासन देता हूं.

चन्नी बोले, मैं अकेला नहीं लड़ सकता
मुख्यमंत्री उम्मीदवार के तौर पर चरणजीत सिंह चन्नी के नाम की घोषणा होने के बाद उन्होंने मंच से कहा, “मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है, करते हो तुम कन्हैया मेरा नाम हो रहा है.” चन्नी ने आगे कहा, “ये बहुत बड़ी लड़ाई है जो मैं अकेला नहीं लड़ सकता. न मेरे पास पैसा है, न इतनी हिम्मत है. हिम्मत भी पंजाब के लोग देंगे, सब कुछ पंजाब के लोग करेंगे.”

‘गरीबी को गहराई से समझते हैं चन्नी’
चन्नी को सीएम उम्मीदवार घोषित करने से पहले राहुल ने कहा, ‘मैंने उनसे (चन्नी से) पूछा कि उनके पिता ने जीविका के लिए क्या किया. क्या आप उनका जीवन जानते हैं? वे गरीबी को गहराई से समझते हैं.” उन्होंने कहा, ‘पंजाब हिंदुस्तान की ढाल है. इस राज्य को अपना नेता खुद चुनना होगा. मेरा काम आपकी आवाज सुनना और समझना है. मेरी एक राय हो सकती है, लेकिन आपकी राय सबसे ज्यादा मायने रखती है. हमारे सभी नेता रत्न हैं और मुझे उनमें से किसी एक को चुनने का कठिन काम दिया गया था.”