‘डर है भारत की राजनीति इजरायल की तरह न हो जाए’: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी

नई दिल्ली: हैदराबाद सांसद ने गुरुवार को दिल्ली-मेरठ यात्रा के दौरान काफिले पर हुए हमले बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने चिंता जाहिर की है कि, भारत की राजनीति ‘इजरायल की तरह न हो जाए.’, साथ ही उन्होंने इस मामले को लेकर सरकार पर भी सवाल उठाए। ओवैसी पर हमले के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में AIMIM प्रमुख ने कहा, ‘इनके (शूटर्स) के पीछे कई लोग हैं. हाल ही में प्रयागराज में एक तथाकथित ‘धर्म संसद’ हुई थी, जहां लोग खड़े हुए और मुझे मारने की बातें हुईं. सरकार इनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है? मुझे डर है कि, बहुसंख्यकों के नियंत्रण वाली भारतीय राजनीति इजरायल की तरह न हो जाए.’ सांसद ने लोकसभा में भी इस मुद्दे को उठाया था।

ग्लॉक हथियार रखने की दे अनुमति: ओवैसी
ओवैसी ने सरकार से मांग की है कि उन्हें सुरक्षा के लिए साथ में ग्लॉक हथियार रखने की अनुमति दी जानी चाहिए. उन्होंने कहा, ‘मैं केंद्रीय गृहमंत्रालय और भारत सरकार से दिल्ली में अपनी सुरक्षा के लिए सरकारी खर्चें पर नहीं, बल्कि अपने गन लाइसेंस पर ग्लॉक हथियार की अनुमति मांगूंगा. मैं बुलेटफ्रूम कार के लिए भी इजाजत मांगूंगा.’ एएनआई ने सूत्रों के हवाले से लिखा कि केंद्र सरकार ने AIMIM की सुरक्षा समीक्षा की है और उन्हें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की Z सिक्युरिटी देने का फैसला किया है।

सरकारी सुरक्षा लेने से किया इंकार-
ओवैसी ने सरकार की तरफ से मिली सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि वे कल पार्टी के प्रचार के लिए दोबारा उत्तर प्रदेश जाने तैयार हैं. उन्होंने कहा था, ” ‘मुझे मौत का डर नहीं है. मुझे ‘Z’ कैटेगरी की सुरक्षा नहीं चाहिए. मैं इससे इनकार करता हूं. मुझे ‘A’ कैटेगरी का नागरिक बना दें. मैं शांत नहीं बैठूंगा. कृप्या न्याय करें… उनपर UAPA लगाएं.’