समीर वानखेड़े को बड़ा झटका, होटल और बार का लाइसेंस रद्द, जाने वजह

मुंबई: एनसीबी के पूर्व जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede ) को तगड़ा झटका लगा है. उनके होटल और बार का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है. ठाणे कलेक्टर ने नवी मुंबई में सद्गुरु होटल और बार को दिए गए लाइसेंस को रद्द कर दिया. इस होटल और बार के मालिक एनसीबी मुंबई के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े थे. बताया जा रहा है कि समीर वानखेड़े ने 1997 में दायर लाइसेंस आवेदन में अपनी उम्र को गलत तरीके से पेश किया था.

समीर वानखेड़े के होटल और बार का लाइसेंस रद्द

प्रशासन की ओर से बताया जा रहा है कि लाइसेंस के आवेदन में समीर वानखेड़े ने अपनी उम्र को गलत तरीके से पेश किया था. जिसके बाद ठाणे के डीएम ने कार्रवाई करते हुए सद्गुरु होटल और बार को दिए गए लाइसेंस को रद्द कर दिया. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक समीर वानखेड़े पर कई आरोप लगाते रहे हैं.

ड्रग्स केस में नवाब मलिक के दामाद समीर खान के फंसने के बाद से ही नवाब मलिक और समीर वानखेड़े के बीच आपसी मतभेद और बयानबाजी जारी है. नवाब मलिक ने आरोप लगाया था कि IRS अधिकारी समीर वानखेड़े के पास बार का लाइसेंस है. मलिक ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के पूर्व मुंबई प्रमुख समीर वानखेड़े के खिलाफ केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड को इस संबंध में शिकायत की थी.

नवाब मलिक ने भी की थी शिकायत

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा था कि समीर वानखेड़े के पास 1997 से अब तक परमिट रूम और बार लाइसेंस है. मलिक ने आरोप लगाया था कहा कि वानखेड़े नवी मुंबई में सद्गुरु नाम से एक होटल और बार चला रहे हैं. नवाब मलिक ने अपनी शिकायत में ये भी सवाल किया था क्या एक केंद्र सरकार का अधिकारी अपने नाम पर बार का लाइसेंस रख सकता है? मुंबई में क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले के बाद नवाब मलिक ने NCB के पूर्व मुंबई प्रमुख समीर वानखेड़े पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए वसूली तक के आरोप लगाए थे.