बजट 2022: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया देश का बजट, किसानों के लिये मेगाप्लान सहित डिजिटल विश्वविद्यालय की स्थापना तक बहुत कुछ है खास

2.37 लाख करोड़ से एमएसपी पर किसानों से होगी खरीद

नई दिल्ली- देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज देश का आम वजट पेश कर दिया। मोदी सरकार के इस 10 वें बजट में किसानों से लेकर नौजवानों तक सरकार ने सभी के लिये कुछ न कुछ ऐलान किये हैं। अगर बात की जाये किसानों की तो वित्तमंत्री के ऐलान के मुताबिक इस बार सरकार किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी पर  2.37  लाख करोड़ की रिकार्ड खरीद किसानों से करने जा रही है। आज वित्तमंत्री ने बजट पेश करने के दौरान कहा कि किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये कृषि स्टार्टअप से नाबार्ड को फंडिग होगी,  कीटनाशक के लिये ड्रोन का इस्तेमाल, किसानों को हाइटेक  पीपीपी मॉडल पर ज्यादा जोर, किसानों को डिजिटल सर्विस देंगे, 2023 मोटा अनाज वर्ष घोषित करने के साथ ही आर्गेनिक खेती को बढ़ावा देना होगा। सरकार ने उत्तर प्रदेश के किसानों के लिये सिचाईं के लिये केन बेतवा को जोड़ने वाली महत्वाकांक्षी केन बेतवा परियोजना के लिये 1400 करोड़ देने व तिलहन का घरेलू उत्पादन बढ़ाया जायेगा। इसके अलावा गंगा किनारे के किसानों की सरकार मदद करेगी व सिचाईं पेयजल सुविधा बढ़ाने पर भी सरकार का जोर रहेगा

सरकार देगी डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा

आज के अपने बजट भाषण के दौरान वित्तमंत्री ने बेरोजगारों व छात्रों के लिये भी कई योजनाओं का ऐलान किया। वित्तमंत्री ने कहा कि सरकार 60 लाख नई नौकरियों का सृजन करेगी, सरकार के पास 30 लाख अतिरिक्त नौकरियों को देने की क्षमता है। उन्होने कहा कि सरकार कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिये आईटीआई में नये कोर्स शुरू करेगी, वन क्लास, वन टीवी चैनल 200 चैनलों तक लागू होगा, छात्र अब क्षेत्रिय भाषाओं में अध्ययन कर सकेंगे। इसके अलावा सरकार सरकार छात्रों की पढ़ाई के लिये पीएम ई विद्या चैनल लाया जायेगा व डिजिटल देश ई पोर्टल बनाने सहित युवाओं का कौशल विकास किया जायेगा। इसके साथ ही सरकार इस बार डिजिटल विश्वविद्यालय की भी स्थापना करेगी ताकि दूरस्थ शिक्षा को बढ़ावा दिया जा सके।

 विकास दर 9.27 रहने का अनुमान

आज वित्तमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि इस बार देश में निवेश के बढ़ने, इंफ्रास्ट्रक्चर के विकसित होने से विकास दर से 9.27 रहने का अनुमान है। उन्होने कहा कि बीमाधारको को राहत देने के लिये एलआईसी का आईपीओ जल्द आयेगा। उन्होने कहा कि 100 साल में ढांचागत सुविधायें बढ़ायी जायेगी। उन्होने कहा कि एयर इंडिया का विनिवेश पूरा हो गया है। बजट में अगले 25 साल का ब्लूप्रिंट है। उन्होने कहा कि वैक्सीनशेन की आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ी हैं। पूँजीगत व्यय बढ़ने से आर्थिक रिकवरी में तेजी आई है। आर्थिक स्थिति मजबूत हो रही है। इसके अलावा उन्होने हाइवे हाइवे विस्तार पर 20 हजार करोड़ करने की भी बात कही। उन्होने कहा कि इस बार शेयर बाजार में करीब 800 अंको का उछाल होने वाला है।