बजट 2022: कुछ ही देर में मोदी सरकार का 10 वाँ बजट , क्या वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण जनता को दे पायेंगी राहत?

टैक्स पेयर को हैं बहुत उम्मीदें

नई दिल्ली- मोदी सरकार के कार्यकाल के 8वें वर्ष में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज देश का 10वाँ बजट व अपना चौथा बजट अब से कुछ देऱ में पेश करेंगी। देश के 4 बड़े राज्यों सहित कुल 5 राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव को देखते हुये आज के बजट को लेकर जनता सरकार से काफी कुछ उम्मीदें लगाये बैठी है। आज के बजट में छोटे किसानों, नौजवानों व मध्यम वर्ग के कारोबारियों को काफी उम्मीदें हैं। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इसमें आम आदमी को टैक्स में छूट मिल सकती है, क्योंकि कोरोना काल में लोगों की आमदनी पर बड़ा असर पड़ा है। ऐसे में टैक्स में छूट  देकर आम जनता को बड़ी राहत दी जा सकती है। चुनावों को ध्यान में रखते हुये मोदी सरकार बजट के जरिए लोगों को लुभाने की कोशिश कर सकती है। जहां एक ओर आम आदमी को तमाम राहत देने की कोशिश हुई, वहीं अरबपतियों पर लगने वाले सरचार्ज को लगाया बढ़ाया गया। हालांकि, सवाल ये उठता है कि मोदी सरकार ने पिछले करीब साढ़े सात सालों में जनता को कितनी राहत दी है, और आज  के समय में जब जनता कोरोना की मार बीते  2 वर्षों से झेल रही है तो ऐसे में जनता में को कितनी राहत मिल सकती है।

किसानों पर मेहरबान हो सकती है सरकार

देश के दो बड़े किसान बहुल राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुये सरकार कुछ बड़े कदम उठा सकती है। आपको बताते चलें कि हाल ही कृषि कानून वापसी की कवायद भी कुछ इसी उद्देश्य से की गयी थी। उसके बाद से सरकार लगातार किसानों को मनाने में जुटी हुई है। अगर इस पूरे मसले पर राजनैतिक विश्लेश्षकों की माने तों सरकार इस बार किसानों की आय दोगुनी करने के लिये कुछ बड़े फैसले ले सकती है। इसके साथ ही सरकार किसानों को डायरेक्ट बेनीफीट ट्रांसफर वाली स्कीम किसान सम्मान निधि के पैसों को बढ़ा या दोगुना कर सकती है। उधर व्यापारियों के लिये भी टैक्स में छूट की सीमा सरकार 5 लाख से बढ़ा 7 लाख के आसपास कर सकती है। इसके अलावा युवाओं को कौसल विकास से रोजगार दिलाने, उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिये भी सरकार कुछ बड़े कदम और बड़े बजट का ऐलान कर सकती है।